ग्रेटर नोएडा ।(शफ़ी मोहम्मद सैफी) लॉयड लॉ कॉलेज में सुप्रीम कोर्ट के  न्यायाधीश, अरुण मिश्रा ने चौथे प्रो एन.आर. माधव मेनन सार्क ला मूट प्रतियोगिता  के अन्तरसट्रीय राउंड का उद्घाटन किया .  सभी सार्क देशों के विधि के  छात्र  प्रतिभागी, न्यायाधीश ,वरिष्ठ वकील ,प्रोफेशर ,राष्ट्रीय प्रशाशक आदि उपस्तिथ थे ।न्यायमूर्ति अरुण  मिश्रा ने कहा कि हम भय, निषेध और वक्तृत्व कला को साझा करते हैं और आपको एक बेहतर सुसज्जित व्यक्ति बनाते हैं। ।  देश के वकील बदलाव लाने के लिए संसाधनों से लैस हैं। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संघर्ष के बाद से वकीलों ने संविधान को बनाने और लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि हम कानून से जुड़े लोग दुनिया भर के छात्रों की मदद करने के लिए उचित और स्वस्थ वातावरण का प्रबंध  करें।विधि का व्यवसाय केवल धन अर्जित करने के लिए नहीं है बल्कि यह सरकार को  नागरिकों को सामान अधिकार प्रदान करने के लिए बाध्य करता है. आज के विद्यार्थियों के पास तकनीकी एक वरदान है जिसका प्रयोग कर के कोई भी बड़ा लक्ष्य आसानी से प्राप्त कर सकते हैं ।सार्क लॉ  के महासचिव मुहम्मद मोहसिन रशीद ने 14 फरवरी को हुए पुलवामा में आतंकी हमले की निंदा की।उन्होंने इन दिनों लोगों में  मानवता  की कमी के लिए  आलोचना की. दस मिनट का शोक भी व्यक्त किया गया ।
Share To:

Post A Comment: