हाथरस गैंग रेप की घटना पर दिल्ली सरकार के वकील चाँद राम के नेतृत्व में कड़कड़डूमा कोर्ट के वकीलो द्वारा न्याय की माँग को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी को पत्र लिखा





देश में बढ़ रहे बलात्कार व हत्या के मामलों को लेकर दिल्ली सरकार के वकील चाँद राम के नेतृत्व में कड़कड़डूमा कोर्ट के 60 वकीलों ने अपनी मांगों को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी को पत्र लिखा जिसमें निम्नलिखित बिंदुको को शामिल किया गया I

1. हाथरस मे घटित गैंगरेप केस को दिल्ली के न्यायालय में ट्रांसफर किया जाए I जिस प्रकार यूपी पुलिस, और प्रशाशन ने खुलेआम संविधान का उलंघन किया है तो यूपी के काननू पर भारत के किसी भी नागरिक को विश्वास नही रहा। इसलिए इस केस को दिल्ली के न्यायालय में ट्रांसफर करने की आवश्यकता हैI


2. यूपी मे राष्ट्रपति शासन लागू किया जाए क्योकि मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी  ने जिस प्रकार से खुले आम संविधान का धज्जिया उड़ाई  है उसी को देखते हुए यूपी मे राष्ट्रपति  शासन तुरंत लागू किया जाए। 


3. पीड़ित के परिवार वालो को 2 करोड़ का मुआवजा दिया जाए। 


4. सीबीआई  द्वारा निश्चित निर्धारित समय के अंतर्गत अपनी रिपोर्ट को सोंपने का आदेश दिया जाए |


5. हाथरस के गैंगरेप दोषियों को फास्टट्रेक कोर्ट मे ट्रान्सफर करके अपराधियों को 6 महीने के अंदर फांसी की सजा दी जाए ताकि कोई भी भविष्य मे ऐसा ना कर सके। हाथरस गैंगरेप जैसा हादसा दुबारा ना हो सके। 


6. हाथरस के DM को संविधान का उल्लंघन करने पर और पीड़ित परिवार से बदसलूकी, मारपीट और केस के तथ्यो कि अनदेखी करने के कारण DM को तुरंत Terminate किया जाए | 


दिल्ली सरकार के वकील चाँद राम ने कहा की हाथरस के गैंगरेप के बाद जनमानस में जबरदस्त आक्रोश है, हाथरस में बलात्कारी हत्यारे दुष्टों ने फिर भारत की पवित्र संस्कृति को कलंकित किया है। ऐसे बलात्कारी हत्यारे दुष्टों को जल्दी से जल्दी फांसी पर लटका देना चाहिए I


इस मौके पर दिल्ली सरकार के वकील चाँद राम के साथ वकील अरविंद सिंह,प्रवीण वर्मा, सत्य प्रकाश, डीके गुप्ता नोटरी वाले, अमन शर्मा, वी.के. शर्मा, नंदकिशोर वर्मा, गौरव चौधरी और विजय कुमार उपस्थित थेI

Share To:

Post A Comment: