*नोएडा विकास प्राधिकरण के द्वारा अब तक बांटे गए लगभग 38 लाख भोजन पैकेट:रितू महेश्वरी
*।



*नोएडा प्राधिकरण क्षेत्र के सभी ग्राम सेक्टरों व सोसायटीओं में कराए जा रहा लगातार सैनिटाइजेशन*
*सीईओ रितू *महेश्वरी*।

*सुरक्षा को देखते हुए सैनिटाइजेशन लगातार कराया जा रहा है:सीईओ रितू महेश्वरी*।




कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते प्रकोप से भारत में लॉक डाउन की सीमा  17 मई 2020 तक के लिए बढ़ाए जाने के बाद नोएडा विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी द्वारा कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण को रोकने के लिए इस आपदा की स्थिति में प्रत्येक व्यक्ति तक आवश्यक सुविधाओं को पहुंचाने के उद्देश्य से लगातार आवश्यक प्रयास किए जा रहे हैं।
जिसमे आश्रितो के भोजन के वितरण के साथ-साथ रोटी बैंक व शेल्टर होम में व्यक्तियों के रहने की व्यवस्था की जा रही है।
जिसके चलते नोएडा प्राधिकरण सीईओ रितू माहेश्वरी द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में गरीब व्यक्तियों दाहढ़ी मजदूरों व बेसहारा व्यक्तियों को दोनों समय का भोजन की व्यवस्था लंच व रूप में नियमित रूप से कराई जा रही है ।
प्राधिकरण के विभिन्न क्षेत्रों में जरूरतमंद व्यक्तियों के लिए शेल्टर होम में स्थापित किए गए लोगों के लिए नोएडा द्वारा संचालित पांचों सामुदायिक रसोई के माध्यम से 105224 लोगों को लंच पैकेट वितरित किए जा रहे हैं जिसमें नोएडा विकास प्राधिकरण क्षेत्र के कई गांव में लगातार लंच डिनर तैयार करवाए जा रहे हैं।
नोएडा के सामुदायिक किचन के माध्यम से नोएडा प्राधिकरण के द्वारा अब तक कुल 38 लाख से अधिक भोजन के पैकेट का वितरण किया गया है
नोएडा विकास प्राधिकरण की मुख्य कार्यकारी अधिकारी ऋतु महेश्वरी द्वारा जरूरतमंद व्यक्तियों को उपलब्ध कराई जा रही। भोजन की व्यवस्था की मात्रा में मुख्य कार्यपालक अधिकारी के निर्देशों से नोएडा प्राधिकरण के द्वारा जन सहभागिता में रोटी बैंक की और अवधारणा के अंतर्गत कोई भूखा न सोए रोटी सेवा को एक मिशन का रूप देते हुए नोएडा प्राधिकरण वह अन्य सेक्टरों में सोसायटी के सहयोग से जनसामान्य को भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी प्रारंभ कर दी गई है। जिसमें कई सेक्टरों को चिन्हित कर नोएडा वेस्ट की सभी सोसायटीओं का भरपूर सहयोग प्राप्त हो रहा है विभिन्न सोसाइटी व सेक्टरों के निवासियों द्वारा गरीब एवं असहाय लोगों को वितरण हेतु अपने घरों से रोटियां बना कर उपलब्ध कराई जा रही हैं।
जिसको नोएडा के सामुदायिक किचन में विभिन्न अलग-अलग वाहनों से एकत्रित कर पहुंचाया जा रहा है ।
नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने कहा कि क्षेत्र में प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आए आश्रित लोगों के लिए परिवारों को ठहरने की उचित व्यवस्था करा दी गई है जिसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों शेल्टर होम बरात घरों में कुल ढाई सौ व्यक्ति मौके पर रह रहे हैं।
 जिसमें 74 व्यक्ति उत्तर प्रदेश के वे 176 भी अन्य राज्यों के हैं।
शेल्टर होम में आश्रित उत्तर प्रदेश के 74 व्यक्ति को कॉरनटाईन किए गए हैं। सभी जगहों पर आश्रित व्यक्तियों को रहने खाने की समुचित व्यवस्था नियमित रुप से की जा रही है तथा आश्रित व्यक्तियों को प्राधिकरण द्वारा गिल्बस मास्क भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं उपयोग किए गए मास्टर ग्लव्स को डिस्पोजल हेतु लाल रंग के डस्टबिन में प्रत्येक शेल्टर में उपलब्ध कराई जा रही है।
जिसे डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन करने वाली संस्था उनका पर्यावरण अनुकूल निस्तारण कराया जा रहा है शासन के निर्देशों को क्रम से संक्रमण की रोकथाम हेतु यूनिसेफ व एनएचएम के सहयोग से जनपद गौतम बुद्ध नगर में उपलब्ध कराए गए मनोचिकित्सक द्वारा शेल्टर होम में रुके व्यक्तियों की काउंसलिंग के साथ जिला अस्पताल में चिकित्सकों द्वारा समय-
समय पर उनका स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा रहा है


 नोएडा मुख्य कार्यपालक अधिकारी  रितू महेश्वरी ने बताया कि हॉटस्पॉट क्षेत्रों में नियमित रूप से सफाई व सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है ।
सेक्टरों सोसायटीओ गांव और झुग्गियों में हफ्ते में दो बार नियमित रूप से सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है।
नोएडा के समस्त ग्राम सेक्टरों व सोसायटीओं में मैनुअल हैंड स्प्रे की मदद से छिड़काव कराया जा रहा है
Share To:

Post A Comment: