दादरी विधायक की पत्नी एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य जनसहभागिता से घर में बनाएंगी मॉस्क
- जय हो सामाजिक संस्था के साथ मिलकर की मुहीम शुरू
- 25 महिलाओं को साथ लेकर अपने अपने घर पर मॉस्क बनाने का काम शुरू
- 2000 मॉस्क प्रतिदिन बनाने का रखा गया है लक्ष्य
- पीएम व सीएम को भेजे जाएंगे पहले बनाए गए 101-101 मॉस्क

ग्रेटर नोएडा। देश में कोविड-19 से चल रही जंग में सहभागिता करने के लिए जय हो सामाजिक संस्था ने सोमवार जलियांवाला वाला कांड के 99 वें शहादत दिवस पर एक बड़ी मुहीम शुरू की है। मुहीम के तहत संस्था ने जलियावांला कांड के शहीदों को नमन करते हुए गरीब एवं जरूरतमंदों के लिए हैंड मेड मॉस्क बनाने की शुरूआत की है। जिसमें दादरी विधायक तेजपाल सिंह नागर की धर्मपत्नी एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य अमला नागर ने भी अपनी सहभागिता सुनिश्चित की है। उन्होंने संस्था की इस मुहीम से जुड़ते हुए अपने घर में रहकर हाथ से मॉस्क की सिलाई शुरू की है और अन्य महिलाओं से भी मुहीम में सहभागिता करने की अपील की है।
जय हो सामाजिक संस्था के राष्ट्रीय महासचिव परमानंद कौशिक ने बताया कि आज देश वैश्विक महामारी कोविड 19 से जंग लड़ रहा है। जिससे बचने के लिए हर खास और आम आदमी के पास मॉस्क होना चाहिए। वहीं बाजार में आज मॉस्क की कमी चल रही है। इसके अलावा कुछ जरूरतमंद लोग ऐसे भी हैं कि जिनकी पहुंच से मॉस्क काफी दूर हैं। ऐसे में चाइना और अमेरिका के हालातों को ध्यान में रखते हुए जय हो सामाजिक संस्था ने सोमवार को बैसाखी एवं जलियांवाला हत्याकांड की 99 वर्षगांठ पर जनसहभागिता से मॉस्क बनाने की शुरूआत की है। जिसके लिए दादरी क्षेत्र में रहने वाली 25 महिलाएं अपने घरों में रहकर ये मॉस्क सिलते हुए देश की सेवा में अपना योगदान दे रहीं है।
जय हो की इस मुहीम से जुड़ी दादरी के बीजेपी विधायक तेजपाल सिंह नागर की पत्नी एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य अमला नागर अपने घर में प्रतिदिन 200 मॉस्क बना रहीं हैं। अमला नागर ने कहा कि संस्था का लक्ष्य 2000 मॉस्क प्रतिदिन बनाना है। जिन्हें शहर से लेकर गांव तक हर जरूरतमंद तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने बताया कि वो संस्था द्वारा बनाए गए पहले 101 मॉस्क देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को और 101 ही प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को भेजेंगी। उसके बाद प्रतिदिन बनने वाले मॉस्क में 60 फीसदी को आमजनता में और 40 फीसदी मॉस्क जिला प्रशासन व पुलिस को मुहैया कराएंगी। उन्होंने अन्य महिलाओं से अपील की है कि वो भी जय हो संस्था की इस मुहीम में शामिल होकर देश की सेवा में अपना योगदान दें। ताकि हमारे आस पास कोई भी व्यक्ति आने वाले दिनों में बगैर मॉस्क के ना रह सके। देश में इस खतरनाक वायरस से चल रही इस जंग में महिला शक्ति को भी अपनी भूमिका निभानी होगी।

Share To:

Post A Comment: