गुल्लक लेकर कोतवाली पहुंचे भाई-बहन
दनकौर:
दनकौर कोतवाली क्षेत्र के जुनैदपुर गांव निवासी 11 वर्षीय मनु अपने 8 वर्षीय भाई प्रतीक नागर के साथ शनिवार को कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में सहायता देने अपनी गुल्लक लेकर दनकौर कोतवाली पहुँचे। जहाँ उन्होंने एसएचओ रजनेश तिवारी को गुल्लक सौपी।

        जुनैदपुर गांव निवासी 6 वीं कक्षा की छात्रा मनु नागर अपने 8 वर्षीय भाई प्रतीक नागर के साथ गुल्लक लेकर कोतवाली पहुंची। जिन्होंने गुल्लक को दनकौर एसएचओ रजनेश तिवारी को देते हुए कहा कि सर इस गुल्लक में जितने भी रुपये है। उनको मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा
करा दो। जिससे कि कोरोना पीड़ितों की मदद हो सके। गुल्लक को फोड़ने के बाद उससे 1751 रुपये निकले। जिनको एसएचओ ने मुख्यमंत्री राहत कोष को भेज दिया है। दोनों भाई-बहनों ने बताया कि आए दिन टीवी पर देखकर उनको यह विचार आया कि वह भी इस महामारी में लोगों की मदद करे। जिसके बाद वह अपने पिता दिनेश नागर के साथ कोतवाली गुल्लक लेकर पहुंचे। उन्होंने लोगों से अपील की है कि मुश्किल की घड़ी में सभी एक-दूसरे की हेल्प करें।  मनु व प्रतीक नागर के पिता दिनेश नागर प्राइवेट स्कूल में अधयापक होने के साथ- साथ एक सामाजिक संगठन करप्शन फ्री इंडिया  में जिलाध्यक्ष भी है। जो संगठन के माध्यम से समाज मे फैले भ्र्ष्टाचार को मिटाने का कार्य करते है।
Share To:

Post A Comment: