राष्ट्रीय समाज रक्षा संस्थान एनआईएसडी सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार के सैंटर फॉर क्रिएटिंग अल्टरनेटिंग टू एडिक्शन द्वारा आयोजित नशे की रोकथाम हेतु एक दिवसीय जागरूकता कार्यशाला का आयोजन गलगोटिया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी ग्रेटर नोएडा में


किया गया इस मौके पर विकल्प समर्पण और परामर्श और पुनर्स्थापना केंद्र के प्रदीप गोयल ने कहा कि नशा बहुत बुरी बीमारी है छात्र उससे बचें।  उन्होंने कहा कि उनका और इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य नशे के प्रति जागरूकता फैलाना है इस मोके पर अनेक कार्यक्रमों के द्वारा नशा मुक्ति के प्रतीक सार्थक संदेश दिया गया व नशा मुक्ति केंद्र के मरीजों द्वारा नाट्य प्रस्तुति से सभी प्रकार के नशे के बारे में सकारात्मक संदेश दिया गया व छात्रों ने अपने शिक्षाप्रद आइटम दिखाकर नशे के प्रति सकारात्मक संदेश दिया इस कार्यक्रम में डॉ तकी इमाम समाजसेवी,शालिनी चंद्रा,अमिताभ यादव डिस्ट्रिक्ट प्रोविजन ऑफिसर, प्रदीप गोयल संरक्षक,प्रकाश गाबर, डॉ दिव्या (cycologist),ऋतु राणा प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर, देव मेहता समाजसेवी, भी मौजूद रहे इस मौके पर संरक्षक प्रदीप गोयल ने अपने संबोधन में बताया कि नशा एक बीमारी है और जिसके उपचार के लिए जितना जल्दी हो सके हस्तक्षेप करना चाहिए इस मौके पर स्कूली छात्रों ने विभिन्न कार्यक्रम पेश किए जिन्हें सम्मानित भी किया गया इस मौके पर सैकड़ों छात्र मौजूद रहे
Share To:

Post A Comment: