AutoExpo 2020: मंदी का असर! कई दिग्गज देसी-विदेशी कंपनियां इस बार ऑटो एक्सपो से गायब



Auto Expo 2020: इस बार कई दिग्गज देसी-विदेशी कंपनियां ऑटो एक्सपो से गायब हैं. आर्थ‍िक सुस्ती, ऊंची लागत और कमजोर मांग की वजह से ऑटो कंपनियां परेशान हैं, इसलिए उत्साह में कमी दिख रही है. हालांकि, चीन की कई नई कंपनियां इस बार ऑटो एक्सपो की शोभा बढ़ा रही हैं.

भारत में AutoExpo का 15वां संस्करण गुरुवार को शुरू हो गया. हर बार की तरह इस बार भी इसकी जबरदस्त चर्चा है, लेकिन पिछले करीब 18 महीने से ऑटो सेक्टर में जारी सुस्ती की वजह से कुछ फीकापन भी है. कई दिग्गज देसी-विदेशी कंपनियां इस बार नहीं दिख रही हैं.

इस बार कई प्रमुख कार और टू-व्हीलर कंपनियां ऑटो एक्सपो से गायब हैं. ऊंची लागत और कमजोर मांग की वजह से ऑटो कंपनियां परेशान हैं, इसलिए उत्साह में कमी दिख रही है. हालांकि, चीन की कई नई कंपनियां इस बार ऑटो एक्सपो की शोभा बढ़ा रही हैं.

होंडा, बीएमडब्लू, होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया, टीवीएस मोटर जैसे बड़े नाम इस बार गायब

हैं. यही नहीं भीड़ को आकर्ष‍ित करने वाले लक्जरी ब्रांड टोयोटा, जीप, लैंबरगिनी, पोर्श और वॉल्वो भी इस बार गायब हैं. इसी तरह अशोक लीलैंड जैसी कमर्श‍ियल कंपनियों ने भी इस बार एक्सपो में आने की इच्छा नहीं दिखाई.

साल 2018 के ऑटो एक्स्पो में 50 बड़ी ऑटो कंपनियों ने श‍िरकत किया था, लेकिन इस साल सिर्फ 30 कंपनियां हिस्सा ले रही हैं. वैसे कुल स्टार्टअप और एग्जिबिटर्स की संख्या करीब 90 है, जबकि पिछले बार 105 कंपनियां थीं. इस बार खास बात यह है कि करीब एक दर्जन स्टार्टअप दिख रहे हैं.

इस बार ऑटो एक्सपो की थीम इलेक्ट्रिक मोबिलिटी है और इसीलिए ज्यादा से ज्यादा इलेक्ट्र‍िक वाहन लॉन्च किए जा रहे हैं. पिछले ऑटो एक्सपो में 80 गाड़‍ियां लॉन्च हुई थीं, इस बार 70 गाड़‍ियां लॉन्च हो रही हैं. साल 2018 के ऑटो एक्सपो में कुल 6.05 लाख लोग आए थे.
Share To:

Post A Comment: