ग्रेटर नोएडा का रहने वाला है गोपाल, फायरिंग से पहले FB पर लिखा- शाहीन बाग, खेल खत्‍म
 जामिया नगर इलाके में फायरिंग (Firing) की घटना को अंजाम देने वाले शख्‍स की पहचान हो गई है. उसने घटना को अंजाम देने से पहले फेसबुक (Facebook) पर कई पोस्‍ट लिखीं।

नई दिल्‍ली. जामिया नगर (Jamia Nagar) इलाके में गुरुवार की दोपहर नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ मार्च से पहले फायरिंग हुई. एक शख्‍स ने खुले आम हथियार लहराया और फायरिंग (Firing) की. जिसमें एक छात्र घायल भी हो गया है. फायरिंग करने वाले शख्‍स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है. अब धीरे-धीरे उसकी पहचान भी उजागर हो रही है. ऐसा बताया जा रहा है कि फायरिंग करने वाला शख्‍स ग्रेटर नोएडा के जेवर कर रहने वाला है. वह फेसबुक प्रोफाइल पर खुद को रामभक्‍त गोपाल लिखता है. हालांकि न्‍यूज 18 उस शख्‍स की पहचान की पुष्टि नहीं करता है.



फायरिंग से पहले कई बार लाइव हुआ था शख्‍स



गोपाल आज फायरिंग से पहले वह कई बार फेसबुक अकाउंट पर लाइव भी हुआ और उसने कई पोस्‍ट भी लिखी. उसने लिखा था, 'शाहीन बाग खेल खत्‍म.' इससे पहले उसने लिखा था, 'कोई हिंदू मीडिया नहीं है यहां.'



दोपहर लगभग 1 बजे उसने पोस्‍ट किया था, 'मेरी अंतिम यात्रा पर मुझे भगवा में ले जाएं और जय श्रीराम के नारे लगाएं.' ऐसा बताया जा रहा है कि हमलावर के पिता पान की दुकान चलाते हैं.


दिल्ली के जामिया में फायरिंग करने वाले शख्स की फेसबुक से पहचान, शख्स का नाम रामभक्त गोपाल, घटना से पहले किया था


हिरासत में आरोपी युवक
फिलहाल पुलिस ने युवक को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है. गोली लगने से घायल छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि यह हमला उस समय हुआ जब प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण तरीके से राजघाट की ओर बढ़ रहे थे. युवक ने पुलिस की मौजूदगी में ही फायरिंग कर दी. हालांकि, इस दौरान उसे रोकने की कोशिश नहीं की गई. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब छात्र घायल हुआ तब पुलिस ने बैरिकेड खोलने से मना कर दिया, जिसके कारण छात्र को कूदकर आगे बढ़ना पड़ा.

डीसीपी ने दी सफाई
इस मामले में डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस की ओर से कोई चूक नहीं हुई है. डीसीपी ने बताया कि उन्‍होंने भीड़ को आगे बढ़ने से रोका था. उनकी मानें तो फिलहाल इस बात की जांच की जा रही है कि युवक कौन है और कहां से आया है? बता दें कि सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर जामिया मिल्लिया इस्‍लामिया के छात्र लगातार विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं.
Share To:

Post A Comment: