मकर सक्रांति में जमकर हुई पतंगबाज़ी, रंग बिरंगी पतंगो से रंगा आसमान




भारत एक विविधताओं से भरा हुआ देश है। जहाँ हर धर्म और जाती को बराबर का सम्मान दिया गया है। जहाँ हर त्योहार को लोग बड़े ही उत्साह से मनाते है। ऐसा ही कुछ मंगलवार को मकर सक्रांति पर देखने को मिला लोगों ने एक दूसरे को त्योहार की शुभकामनाएँ दी और एक दूसरे की ख़ुशी के लिए मंदिरो में दुआ का दौर जारी रहा। मकर सक्रांति हिंदू धर्म में एक प्रमुख त्योहार के रूप में जाना जाता है। ज्योतिष के अनुसार, मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है. सूर्य के एक राशि से दूसरी में प्रवेश करने को संक्रांति कहते हैं. मकर संक्राति के पर्व को कहीं-कहीं उत्तरायण भी कहा जाता है. मकर संक्राति के दिन गंगा स्नान, व्रत, कथा, दान और भगवान सूर्यदेव की उपासना करने का विशेष महत्त्व है. मकर सक्रांति के  दिन लोगों ने आसमान को रंग बिरंगी पतंगो से रंग दिया और ख़ूब जमकर पतंगबाज़ी की । लाखों श्रद्धालु गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के मिलन स्थल संगम में पुण्य की कामना के साथ डुबकी लगाते भी देखे गए।
Share To:

Post A Comment: