इरफान ने पाकिस्तान के खिलाफ पाकिस्तान में टेस्ट में रचा था इतिहास, कोई नहीं तोड़ पाया रिकॉर्ड


 इरफान पठान ने साल 2020 के शुरुआत में ही यानी चार जनवरी को आधिकारिक तौर पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का एलान कर दिया। इरफान ने वैसे तो अपने करियर में कई ऐसे मुकाम हासिल किए जिस पर फक्र किया जा सकता है, लेकिन एक रिकॉर्ड ऐसा है जिसे स्वर्ण अक्षरों में लिखा जा सकता है। इरफान ये कमाल करने वाले एकमात्र भारतीय गेंदबाज हैं।

पाकिस्तान के खिलाफ पाकिस्तान में टेस्ट में लिया हैट्रिक

भारत की तरफ से पाकिस्तान के खिलाफ उसकी धरती पर टेस्ट क्रिकेट में एकमात्र हैट्रिक लेने वाले भारतीय गेंदबाज इरफान पठान हैं। इरफान से पहले या उनके बाद अब तक किसी ने भी ये कमाल नहीं किया है। जरा उस मैच को शब्दों के जरिेए याद करते हैं। ये मैच पाकिस्तान में खेला गया था और भारतीय टीम वहां गई थी। कराची में साल 2006 में 29 जनवरी से खेले गए इस मैच को इरफान पठान ने अपनी हैट्रिक की वजह से इतिहास में दर्ज करा दिया।


इस मैच में भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। उस वक्त टीम के कप्तान सौरव गांगुली थी और उन्होंने पहली पारी का पहला ओवर फेंकने के लिए इरफान पठान के हाथ में गेंद सौंपी। इस ओवर की पहली तीन गेंद पर एक रन बने, लेकिन इसके बाद आखिरी की तीन गेंदों पर जो हुआ वो इतिहास बन गया। इरफान पठान ने अपने पहले ही ओवर की चौथी गेंद पर सलमान बट्ट को शून्य पर राहुल द्रविड़ के हाथों विकेट के पीछे कैच करवा दिया। इसके बाद पांचवीं गेंद पर उन्होंने यूनुस खान को भी शून्य पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। फिर ओवर की छठी गेंद पर मो. यूसुफ को शून्य पर क्लीन बोल्ड करके इतिहास रच दिया। वो इसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ उनकी धरती पर टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक विकेट लेने वाले वो पहले भारतीय गेंदबाज बन गए।
Share To:

Post A Comment: