प्राधिकरण द्वारा ग्रेटर नोएडा शहर बसाया गया है। किसानों की जमीन जाने के बाद खेती पर आश्रित गांवों में रहने वाले लुहार, बढाई, कुम्हार व अन्य आश्रित लोग बेरोजगार हुये हैं। इसी प्रकार उद्योगधंधों में काम करने वाले श्रमिक और बच्चों को बेहतर शिक्षा व चिकित्सा उपलब्ध कराना प्राधिकरण का दायित्व





है
उपरोक्त शब्द जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने आज दिनांक 28 जनवरी 2020 को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के 29वे स्थापना दिवस के मौके पर आयोजित विंटर कार्निवाल के अंतिम दिन रन फॉर फन, सेमिनार ऑन स्मार्ट सिटी व समापन कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारियों व क्षेत्र के किसानों व नौजवानों को संबोधित करते हुए कहे।
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने आगे कहा कि ’’उद्दपि ग्रेटर नोएडा में अस्पतालों व शिक्षण संस्थानों की भरमार है, लेकिन ये दोनों ही संस्थान गरीब व्यक्तियों की मदद नही कर पा रहे हैं, जिससे उपयुक्त चिकित्सा न मिलने के कारण अल्प आय वाले लोग समय पूर्व ही बीमारियों से ग्रस्ति हो, मृत्यु का शिकार हो जाते हैं। इसी प्रकार सुलभ व सस्ती शिक्षा के अभाव में बेरोजगार हुये गांवों के कुशल कारीगर और खेतिहर मजदूरों के बच्चे, अपने कौशल विकास हेतु संघर्ष कर रहे हैं, जिनकी उन्नति करना भी प्राधिकरण की जिम्मेदारी है।’’
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कहा कि ’’आम व्यक्ति साधारण बुखार के लिए भी प्राइवेट अस्पतालों पर आश्रित है, जहां उसके जीवन भर की कमाई गयी पूँजी एक झटके में ही प्राइवेट अस्पतालों की मंहगी चिकित्सा की भेंट चढ जाती है।’’
प्राधिकरण को 29वें स्थापना दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कहा कि ’’प्राधिकरण द्वारा पिछले 03 वर्षों में सराहनीय कार्य किये गए है, जिससे प्रदेश सरकार की भी प्रतिष्ठा बढ़ी है तथा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले प्रत्येक गांव का विकास हो रहा है।’’
इस मौके पर स्थानीय सांसद डॉ0 महेश शर्मा व दादरी विधायक तेजपाल सिंह नागर व मुख्य कार्यपालक  अधिकारी श्री नरेन्द्र भूषण ने भी 29वे स्थापना दिवस के मौके पर सम्बोधित किया।
इस सेमिनार में सैकड़ों लोग मौजूद रहे
Share To:

Post A Comment: