शारदा विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ एजुकेशन में "डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मुक्त ऑनलाइन पाठ्यक्रम की डिजाइनिंग और विकास" पर चार दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का शुभारंभ




शारदा विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ एजुकेशन में "डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मुक्त ऑनलाइन पाठ्यक्रम की डिजाइनिंग और विकास" विषय पर राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान, राष्ट्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तत्वाधान में इस कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है।
राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय के अध्यक्ष प्रोफेसर चंद्रभूषण शर्मा इस कार्यशाला में मुख्य अतिथि और राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा, केपिसिटी बिल्डिंग सैल के जॉइंट डायरेक्टर श्री एस0 के0 प्रसाद विशिष्ट अतिथि  के रूप में मौजूद थे।
         कार्यशाला का शुभारम्भ शारदा विश्वविद्यालय के कुलपति माननीय प्रोफेसर जी0 आर0 सी0 रेडडी जी, कार्यशाला के मुख्य अतिथि प्रोफेसर चंद्रभूषण शर्मा और विशिष्ट अतिथि एस0 के0 प्रसाद  ने दीप प्रज्जवलन के साथ किया। मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि का स्वागत स्कूल ऑफ़ एजुकेशन की डीन प्रोफेसर डाॅ0 आरती कौल काचरू ने किया।
        इस कार्यशाला में शारदा विश्विद्यालय के सभी स्कूलों के डीन, कार्यशाला की आयोजक डॉ. निशि त्यागी के शारदा विश्विद्यालय के 100 संकाय सदस्य और विभिन्न राज्यों से आए प्रतिभागी उपस्थित थे।
         कुलपति प्रोफेसर जी0 आर0 सी0 रेडडी ने सभागार में उपस्थित सभी को सम्बोधित करते हुए कहा की पाठ्यक्रम के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए असीमित भागीदारी और खुली पहुँच प्रदान करने के लिए दुनिया भर में आकर्षण बढ़ा रहे हैं। भारत में बड़े पैमाने पर मुक्त ऑनलाइन पाठ्यक्रम की मूर्त रुचि को उनकी लागत-प्रभावशीलता और बड़ी संख्या में शिक्षार्थियों तक पहुंचने की क्षमता के साथ दिखाता है।
        मुख्य अतिथि प्रोफेसर चंद्रभूषण शर्मा ने वर्तमान समय में शिक्षण पद्धति में ऑनलाइन शिक्षा की आवश्यकता पर बल देने हेतु सभी को अभिप्रेरित किया। उन्होंने कहा की इस प्रकार की कार्यशालाऐं निश्चित रूप से शिक्षा से संबंध लोगों को नवीन पाठ्यक्रम की संरचना एवं विकास हेतु अभिप्रेरित करती हैं।
        विशिष्ट अतिथि एस0 के0 प्रसाद ने उच्च शिक्षा में मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेस की आवश्यकता पर बल दिया और कहा की ऑनलाइन कोर्सेज पारम्परिक शिक्षा प्रणाली के विकल्प के रूप में उभर कर आ रहे है।
        डीन प्रोफेसर डाॅ0 आरती कौल काचरू ने समस्त आगंतुकों, मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि के साथ सभागार में मौजूद सभी का आभार प्रकट किया । उन्होंने  मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेज की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वर्तमान शैक्षिक परिदृश्य में इन कोर्स की जानकारी रखना अत्यंत आवश्यक है।
        कार्यक्रम के अंत में कुलपति प्रोफेसर जी0 आर0 सी0 रेडडी और डीन प्रोफेसर डाॅ0 आरती कौल काचरू ने मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया और धन्यवाद ज्ञापन किया गया।
Share To:

Post A Comment: