गौतमबुद्धनगर। थाना फेस टु ने 38 लाख रूपये के गबन की घटना का किया सफल अनावरण।   तीन अभियुक्तों को किया गिरफ्तार, 37 लाख 28 हजार नगद, घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल नंबर UP14DF 3101और घटना में प्रयुक्त दो मोबाइल फोन बरामद।



गौतमबुद्ध नगर। नोएडा के थाना फेस टु पुलिस ने गुरुवार को 38 लाख रुपये के गबन के तीन आरोपीयों हेमप्रकाश पुत्र देवचन्द निवासी ग्राम बैजना थाना पथरिया जिला मुंगेली छत्तीसगढ़, अमित बघेल पुत्र अनूप लाल निवासी ग्राम भदौरा थाना मस्तूरी जिला बिलासपुर, छत्तीसगढ़ महेश पुत्र विष्णुप्रसाद निवासी ग्राम बैजना थाना पथरिया जिला मुंगेली छत्तीसगढ़ को मुखबिर की सूचना पर सैक्टर 82 कट से गिरफ्तार कर लिया। उपरोक्त सभी अभियुक्त छत्तीसगढ़ भागने की फिराक में थे। पकड़े गए अभियुक्तों के कब्जे/निशानदेही पर पुलिस ने 37 लाख 28 हजार नगद, घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल नंबर UP14DF 3101और घटना में प्रयुक्त दो मोबाइल फोन बरामद किए हैं। गौरतलब है कि 8 जनवरी 2020 को महेश कुमार अकाउन्ट मैनेजर कम्पनी आर एफ पी पैट्रो प्रोडक्टस प्राइवेट लिमिटेड 16/2 साइट 4 साहिबाबाद गाजियाबाद के द्वारा थाना फेस टु नोएडा पर सूचना दी थी कि उनके द्वारा अपने कर्मचारी हेमप्रकाश को नोएडा सेक्टर 88 स्थित कम्पनी बी 16 के यहां रूपये 38 लाख पहुंचाने के लिए दिये थे। किन्तु हेमप्रकाश के द्वारा उनको सूचना दी गई कि 38 लाख रूपये से भरा बैग और कम्पनी द्वारा दिया गया मोबाइल फोन 7838294941 दो बाइक सवार बदमाशों द्वारा एनएसईजेड गन्दे नाले पर लूट लिया गया है।परन्तु महेश कुमार के द्वारा हेमप्रकाश पर ही घटना में लिप्त होने का शक जाहिर किया था। इस समबन्ध में थाना फेस टु नोएडा पर मुकदमा अपराध संख्या 24/2020 धारा 406 भादवि के तहत पंजीकृत कराया गया था।अभियुक्त हेमप्रकाश ने पूछताछ मे बताया कि वह लगभग चार वर्षों से उपरोक्त कम्पनी में कार्यरत है। उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। कम्पनी मालिक व कैशियर उससे रूपयें लाने ले जाने का कार्य लेते थे। अभियुक्त ने बताया कि लालच के कारण मैनें अपने जीजा अमित बघेल को बुलवाया और अपने मौसेरे भाई महेश को महागुन मेस्ट्रो सोसायटी में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी पर लगवाया। हम लोगों ने कई महीने पहले योजना बनाई कि जिस दिन भी अधिक कैश कम्पनी से नोएडा भेजने के लिए मिलेगा उसी दिन कैश गायब करके लूट की सूचना दे दी जायेगी और परिवार सहित नोएडा से भाग जायेगें। इसी उद्येश्य से हेम प्रकाश ने अपने मौसेरे भाई महेश को 7 जनवरी 2020 को ही एक अलग कमरा किराये पर दिलवाया तथा पूर्व से ही इसी मकसद से एक नया सिम कार्ड नंबर 9644599434 खरीदा जिसका प्रयोग केवल घटना के समय ही किया जाना था। 8 जनवरी 2020 को जब कम्पनी से कैशियर ने 38 लाख रूपये नोएडा पहुंचाने के लिए दिये तो योजना के तहत अभियुक्त हेमप्रकाश ने उपरोक्त नम्बर से अपने जीजा से महेश (मौसेरा भाई) द्वारा प्रयुक्त मोबाइल पर बात की तथा महेश और अमित बघेल को सेक्टर 50 पर नोटों से भरा पिटू बैग सौंप दिया। तथा फेस टु एनएसईजेड गन्दे नाले पर पहुँचकर कम्पनी द्वारा दिया गया मोबाइल फोन तोडकर व मोटरसाइकिल की चाबी को गन्दे नाले में फेंक दिया तथा एक राहगीर से फोन मांगकर कम्पनी कैशियर को लूट की झूठी
सूचना दे दी।
Share To:

Post A Comment: