विश्व पटल पर भारत का मान बढाने वाले जननेता और भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम से जाना जायेगा दनकौर का बाईपास रोड


ज्ञात रहे कि झाझर, रबूपुरा, बिलासपुर व ग्रेटर नोएडा के सैंडकों ग्रामों के लोगों को दनकौर बाईपास के जर्जर होने के कारण बहुत ही कष्ट झेलने पड रहे थे, उसी को देखते हुए, आज दिनांक 25 दिसंबर 2019 को जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती के मौके पर लगभग 01 करोड 11 लाख रूपये की धनराशि से निर्मित होने वाले दनकौर बाईपास मार्ग का श्रीगणेश किया, जिससे सैंकडों ग्रामों के निवासियों को आवागमन में काफी सहूलियत मिलेगी तथा इस बाईपास को अटल बिहारी वाजपेयी मार्ग के नाम से जाना जायेगा। इस मौक पर जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने लोगों की जनसमस्याओं को भी जाना।
         इस मौके पर महीपाल सिंह पूर्व चेयरमैन, संदीप जैन, अमित कसाना, संजय प्रधान, ओमपकाश प्रधान, रजनीकांत अग्रवाल, राजवीर सिंह, चन्द्रभान सिंह मलिक, नीरज शर्मा, आदेश शर्मा,पवन खटाना, लालमन सिंह, नरेन्द्र सिंह, बंटी गुर्जर व ललित सिंह आदि लोग मौजूद रहे।
इसके बाद जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कासना में स्थित प्राईमरी विद्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती के मौके पर आयोजित ’’सुशासन दिवस’’ कार्यक्रम में श्रद्धांजति अर्पित करते हुए, उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि ’’यदपि आज पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी इस दुनिया में नही है, लेकिन एक स्वच्छ व स्वस्थ्य राजनीति की, जो परंपरा उन्होने इस देश के लिए छोडी है, उसका अनुकरण अभी को करना चाहिए। मानवीय मूल्यों की गहरी परख, उनके व्यक्तित्व को उच्चतम शिखर तक पहुॅचाती है। उनके हृदय की करूणा और व्यवस्था के प्रति वेदना उनके द्वारा लिखी गयी कविताओं में स्पष्ट दृष्टिगोचर होती हैं।"
               इस मौके पर कासना मंडल अध्यक्ष श्री जगदीप नागर, पूर्व मंत्री हरिशचंद भाटी, सोबिन्द्र सिंह नेता जी, सुखवीर सिंह प्रधान जी, वीर सिंह प्रधान जी, रामेश्वर सरपंच साहब, बिजेन्द्र नागर, संतराम भाटी, राजबाला चैधरी, धर्मवीर प्रधान जी, बाबू राम जी, अजीत मुखिया, अनिल तायल, भगवत बीडीसी, धर्मेन्द्र भाटी, रामसिंह नेता जी, सोनू शर्मा, नवीन शर्मा, इन्द्रजीत प्रधान जी, निहाल सिंह, रामपाल सिंह, नेनपाल सिंह, मानसिंह बाल्मीकि आदि सैंकडों लोग प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: