दनकौर में निकला बारावफात का जुलूस सैकड़ों लोग हुए शामिल सुरक्षा के किए गए व्यापक प्रबंध


दनकौर।  जुलूस-ए-मोहम्मदी में बड़ी तादाद में मुस्लिम समुदाय के लोग शामिल हुए। इस दौरान मुल्क में अमन-चैन की दुआ मांगी गई। सोमवार की सुबह जुलूस  प्रारंभ हुआ। यह जुलूस दीनदयाल चौराहे से शुरू होकर थाना रोड, बिहारी लाल चौक, मेन बाजार दनकौर, झाझर अड्डा, झाझर रोड, मोहल्ला पटपरा से होकर जामा मस्जिद दनकौर पर समाप्त हुआ।  मौलाना मोइउद्दीन अशरफी ने हजरत मुहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलैह वसल्लम के जीवन पर प्रकाश डाला और कहा कि नबी दुनिया में रहमत बनकर आए और समाज को इस्लामी कानून का पाठ पढ़ाया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि इस्लाम जहां धर्म का पाठ पढ़ाता है, वहीं देश प्रेम और देशभक्ति भी सिखाता है। उन्होंने समाज का आह्वान किया कि जिस देश में रहते हैं, उस देश की भक्ति और इंसानियत के प्रति वफादार रहें। यही इस्लाम सिखाता है।
 जुलूस के दौरान सुरक्षा के भी व्यापक प्रबंध किए गए थे एसडीएम सदर प्रसून द्विवेदी, सीओ श्रद्धा पांडे, नायब तहसीलदार अभिषेक, दनकौर कोतवाल अखिलेश प्रधान सहित भारी पुलिस बल जुलूस के साथ मौजूद रहा इस मौके पर कमेटी ने बेहतर पुलिस व्यवस्था के लिए एसडीएम सदर प्रसून द्विवेदी ,सीओ श्रद्धा पांडे, कोतवाल अखिलेश प्रधान व प्रशासन से जुड़े सभी लोगों को सम्मानित किया। इस मौके पर डॉ रहमत अली आरिफ मलिक नासिर हुसैन अब्बासी आजाद अंसारी, सईद साबरी,  सलीम पेंटर,शहादत  मलिक, यासीन नियाजी, रसूला खां, साबू मलिक, मौलाना मोइनुद्दीन अशरफी, चांद मलिक ,इसाक मेंबर,रियासत मलिक, सूफी आरिफ, निसार साइकिल वाले,  शाहनवाज पेंटर, अलाउद्दीन , वसीम मौजूद रहे
Share To:

Post A Comment: