परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में नौकरी की संभावनाओं पर विशेष व्याख्यान''
शारदा विश्वविधालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, स्कूल ऑफ़ बेसिक साइंस एंड रिसर्च और रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट सेंटर द्वारा संयुक्त रूप से विश्वविद्यालय के विज्ञान और इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए "परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में नौकरी की संभावनाओं पर" विशेष व्याख्यान का आयोजन

किया गया| इस व्याख्यान के सम्बोधित करने  के लिए भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (मुंबई) के वैज्ञानिक अधिकारी (जी) के श्री संदीप शर्मा और श्री ऍफ़. टी. कुरैशी मौजूद थे।

दोनों वैज्ञानिक अधिकारिओ का स्वागत शारदा विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के डीन प्रोफेसर परमानन्द ने किया ।  व्याख्यान में  अन्य संकायों के डीन के साथ-साथ विभाग के सारे अध्यक्ष, अधिकारी और  विज्ञान और इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष के छात्र और छात्राये उपस्थित थे।

स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के डीन प्रोफेसर परमानन्द ने कहा आज हमारे बीच दो प्रख्यात वैज्ञानिक अधिकारी मौजूद है जो छात्रों को परमाणु ऊर्जा और संबंधित क्षेत्रों में नौकरियों के वर्तमान परिदृश्य के बारे में अवगत कराएँगे।

श्री संदीप शर्मा ने राष्ट्र की बढ़ती ऊर्जा मांग को पूरा करने के लिए ऊर्जा मांग, ऊर्जा संसाधनों के विभिन्न रूपों और परमाणु ऊर्जा के महत्व के बताया। उन्होंने परमाणु ऊर्जा अनुसंधान और बिजली उत्पादन में इंजीनियरिंग और विज्ञान के विभिन्न विषयों की भूमिका पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने छात्रों को नौकरी से संतुष्टि, पदोन्नति के रास्ते और आत्मनिर्भरता प्राप्त करने की वैज्ञानिक और तकनीकी चुनौतियों के बारे में जानकारी दी।

श्री कुरैशी ने भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र के  ट्रेनिंग स्कूल में प्रशिक्षण स्कूल, प्रवेश परीक्षा और साक्षात्कार प्रक्रिया और वेतन संरचना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक बुनियादी शैक्षिक योग्यता की जानकारी दी।

स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के डीन प्रोफेसर परमानन्द ने कहा की  दोनों वक्ताओं ने  छात्रों को परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में नौकरियों के लिए आवेदन करने के लिए प्रोत्साहित किया है और छात्रों के भविष्य के लिए यह व्याख्यान काफी फायदेमंद साबित होगा।

कार्यक्रम के अंत में  डीन प्रोफेसर परमानन्द ने  द्वारा वैज्ञानिक अधिकारिओ को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया और धन्यवाद ज्ञापन किया गया।
Share To:

Post A Comment: