आज दिनांक 15/11/ 2019  गुरुवार को अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा द्वारा एक प्रेस वार्ता का आयोजन ग्रेटर नोएडा के प्रेस क्लब में किया गया प्रेस वार्ता में संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुराग गुर्जर ने कहा कि अयोध्या में बनाए जा रहे श्री राम मंदिर ट्रस्ट में गुर्जर समाज का भी प्रतिनिधित्व होना चाहिए क्योंकि पुरातत्व विभाग द्वारा वर्ष 1976, 77 में जो वहां पर खुदाई की गई थी उसमें गुर्जर प्रतिहार शैली के स्तंभ मिले थे



इसकी जानकारी पुरातत्व विभाग के पूर्व क्षेत्र निदेशक केके मोहम्मद द्वारा अपनी रिपोर्ट में दी है केके मोहम्मद द्वारा जो रिपोर्ट कोर्ट में पेश की है उसमें बताया गया है कि यह मंदिर 11वीं 12वीं शताब्दी का बना हुआ है उस समय गुर्जर प्रतिहार राज वंश का शासन था इस रिपोर्ट का खुलासा होने के बाद समस्त गुर्जर समाज में बहुत ही हर्ष और उल्लास है अनुराग गुर्जर ने केंद्र सरकार से मांग की है की सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीन माह का समय ट्रस्ट बनाने का दिया है  उस ट्रस्ट में गुर्जर समाज के किसी भी व्यक्ति को शामिल किया जाए साथ ही उन्होंने कहा कि इस ट्रस्ट में केके मोहम्मद को भी शामिल किया जाए क्योंकि उन्हीं की वजह से 471 वर्ष पुराना विवाद समाप्त हुआ है प्रेस वार्ता में संगठन के राष्ट्रीय संरक्षक नरेंद्र गुर्जर ने कहा कि हम संगठन के माध्यम से सभी जिलों में जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के नाम ज्ञापन भेजेंगे तथा गांव गांव जाकर मंदिर के योगदान के लिए लोगों से मिलेंगे प्रेस वार्ता में श्याम सिंह भाटी एडवोकेट ने कहा कि अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के लोग गुर्जर समाज के सभी जनप्रतिनिधियों से मिलकर अपनी इस मांग को केंद्र सरकार तक पहुंचाने का काम करेंगे तथा देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से समय लेकर अपनी इस मांग का ज्ञापन भी सौंपेंगे इस मौके पर मुख्य रूप से रुपेश डेढा, अशोक कमांडो, डॉ अजय भाटी, सतीश बैसला, प्रमोद बॉस, दीपक भाटी, गौरव तवर, अनिल चेची, तेजा गुर्जर ,नितिन गुर्जर विकास आदि लोग उपस्थित रहे
Share To:

Post A Comment: