नोएडा में बन रहा था नामी कंपनियों का नकली सीमेंट, गिरोह का हुआ भंडाफोड़


नोएडा।  जनपद गौतम बुद्ध नगर पुलिस ने नकली सीमेंट (Cement) बनाने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर 11 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इनके पास से 3,852 बोरी नकली सीमेंट बरामद किया है. नकली सीमेंट उत्तरांचल के एक प्रसिद्ध शराब व्यापारी व उसके सहयोगियों द्वारा बनाया जा रहा था. नकली सीमेंट देश के विभिन्न नामी कंपनियों के नाम से नये बोरों में भरकर उत्तर प्रदेश व उत्तरांचल में भेजा जाता था.



वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) गौतम बुद्ध नगर वैभव कृष्ण ने बताया कि जनपद पुलिस को सूचना मिली कि ग्रेटर नोएडा की विभिन्न जगहों पर कुछ लोग नकली सीमेंट बनाने का काम कर रहे हैं और नकली सीमेंट को नामी कंपनियों के नाम से नई बोरियों में भरकर बेच रहे हैं।


बनाते थे नामी कंपनियों के नकली सीमेंट
एसएसपी ने बताया कि सूचना के आधार पर एक पुलिस टीम बनाई गई और ग्रेटर नोएडा के हिंडन पुस्ता के किनारे स्थित ग्राम हैबतपुर, बिसरख गांव, सेक्टर 146 एवं गाजियाबाद के मुराद नगर के मोरटा गांव में छापे मारे गए. उन्होंने बताया कि चारों जगह हुई छापेमारी में पुलिस को 3,852 बोरी नकली सीमेंट मिली है. इन बोरियों पर विभिन्न नामी कंपनियों- जेके सुपर सीमेंट, अंबुजा सीमेंट, बांगर सीमेंट, एसीसी सीमेंट, अल्ट्राटेक सीमेंट के नाम अंकित थे। सरगना उत्तराचंल का
उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस मामले में 11 लोगों को गिरफ्तार किया है. एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि नकली सीमेंट बनाने वाले गैंग का सरगना उत्तरांचल के उधम सिंह नगर के रहने वाला आलोक जैन है. यह उत्तरांचल का बड़ा शराब व्यापारी है. यह अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर नोएडा और गाजियाबाद में नकली सीमेंट बनाने की कंपनी चलाता है. एसएसपी ने बताया कि हैबतपुर में नकली सीमेंट बनाने की कंपनी चलाने वाला गाजियाबाद निवासी चंद्र पाल फरार है.
Share To:

Post A Comment: