राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ग्रेटर नोएडा में 04 अक्टूबर, 2019 को रक्त कोष में रक्तदान शिविर का आयोजन
किया था। रक्त और रक्त उत्पादों के संचार से हर साल लाखों लागों की जान बचती है।
डा॰ (बिग्रे्र॰) राकेश गुप्ता ने प्रतिभागियों का स्वागत किया और रक्तदान के महत्व की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आपके द्वारा किए गए रक्त का उपयोग कर के एक रक्त इकाई से 6 घटक बनाकर 5-6 व्यक्तियों के जीवन को बचाया जा सकता है।
इस कार्यक्रम मेें रक्त दान के बारे में जागरूकता बढ़ाने और रक्त दाताओं को रक्त जीवन रक्षक उपहारों के लिए धन्यवाद देने का कार्य करता है। नियोजित उपचार और तत्काल हस्तक्षेप के लिए रक्त एक महत्वपूर्ण संसाधन है। सभी प्रकार की आपात स्थितियों प्राकृतिक आपदाओं, दुर्घटनाआंे, सशस्त्र संघर्ष आदि के दौरान घायलों के इलाज के लिए रक्त भी महत्वपूर्ण है और मातृ और प्रसव पूर्व देखभाल में एक आवश्यक जीवन रक्षक भूमिका है।
शिविर का उद्घाटन श्री ए॰ के॰ जैन (ड्रग्स इन्सपेक्टर, ग्रेटर नोएडा) ने किया। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने बताया कि गर्भावस्था और प्रसव से जुड़ी रक्तस्त्राव से पीड़ित महिलाओं के उचित प्रबंधन में रक्त आवश्यक घटक है। मलेरिया और कुपोषण के कारण गंभीर एनीमिया से पीड़ित बच्चे, उन्नत चिकित्सा और शल्य चिकित्सा प्रक्रियाआंे से गुजरना पड़ता है।
रक्तदान शिविर में एम॰बी॰बी॰एस॰ के छात्रों ने भी भाग लिया। डा॰ अतुल गुप्ता, डा॰ श्याम सुंदर, मेडिकल छात्र साची मेहरोत्रा ने रक्तदान किया। डा॰ शालिनी बहादुर (आयोजक और पैथोलाॅजी विभाग प्रमुख), ने रक्तदान के महत्व से अवगत कराया और इस बात पर जोर दिया कि रक्तदान करने वाले व्यक्ति के शरीर पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है और किये गये रक्त की भरपाई दो से तीन महीने में हो जाती है। एक स्वस्थ व्यक्ति हर छः महीने में एक यूनिट रक्तदान कर सकता है।
मुख्य चिकित्सा अधीक्षक शिखा सेठ ने सभी रक्तदान करने वाले प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया।
राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान चिकित्सा क्षेत्र में प्रगतिशील एपेक्स संस्थान है, जो एक   उत्कृष्ट चिकित्सा शिक्षा, सहयोगी अनुसंधान प्रदान करने और सभी रोगियों को अत्याधुनिक चिकित्सा प्रदान करने के लिए तत्पर है। अस्पताल हर दिन लगभग 1500-2000 रोगियों की सेवा कर रहा है और देश के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में से एक बनाने के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। इस सत्र से एम॰बी॰बी॰एस॰ की कक्षाएं शुरू कर दी गयी हैं।
Share To:

Post A Comment: