ग्रेटर नोएडा। 

राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान, गे्रटर नोएडा के एनाटोमी विभाग द्वारा दिनांक 18 सितम्बर 2019 को ‘‘अंग एवं देह दान-जिन्दगी के बाद भी जिऐं‘’ विषय पर सतत चिकित्सा शिक्षा एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें संस्थान के संकाय सदस्यों व छात्रों समेत देश के विभिन्न क्षेत्रों से आये लगभग 200 लोगों ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि एयरमार्शल  पवन कपूर, ए0वी0एस0एम0, वी0एस0एम0 एवं विशिष्ट अतिथि डा0 जे0एम0 कौल, आचार्य एवं विभागाध्यक्ष, एनाटाॅमी विभाग, बी0एस0ए0 मेडिकल काॅलेज, नई दिल्ली तथा संस्थान निदेशक डा0 (ब्रिगे0) राकेश गुप्ता द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया।
डाॅ॰ सविता मिश्रा, निदेशक आचार्य एवं विभागाध्यक्ष, एनाटोमी विभाग, मौलाना आजाद मेडिकल, काॅलेज, नई दिल्ली द्वारा बताया गया कि समाज में बदलाव आ रहा है लोगों पहले से अधिक  अगंदान एवं देह दान कर रहे हैं। डा0 आरती विज, आचार्य, अस्पताल प्रशासन, ऐम्स, नई दिल्ली ने समाज में बे्रन डेड लोगों के परिवारिजनों को अंगदान हेतु जागरूक करने की बात कही। उन्होंने आगे बताया कि एक बे्रन डेड इंसान के अंगों से कई लोगों की जान बचायी जा सकती है। डाॅ॰ रेनू धींगरा, आचार्य,  एनाटमी विभाग, ऐम्स, नई दिल्ली ने बताया कि किस तरह से मृत शरीर के द्वारा मेडिकल के छात्रों को विभन्न शारीरिक अंगों के बारे में वास्तविक जानकारी दी जाती है जो भविष्य में ईलाज के समय काम आती है। डाॅ॰ दिनेश कुमार, आचार्य, एनाटोमी विभाग, मौलाना आजाद मेडिकल काॅलेज, नई दिल्ली ने अगंदान व देहदान से सम्बंधित कानूनी प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी।
अन्त में दधिक्षी देहदान समिति द्वारा आगान्तुकों व प्रतिभागियों को बताया कि किस तरह से लोग देहदान करके मरने के बाद भी समाज के काम के काम आ सकते हैं। संस्थान के एनाटाॅमी विभाग की आचार्य एवं विभागाध्यक्ष डा0 रंजना वर्मा ने समस्त अतिथियों एवं प्रतिभागियों का आभार जताते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन डा0 पी0एस0 मित्तल, सह-आचार्य, एनाटाॅमी विभाग तथा डा0 दीप्ती चैपडा, सह-आचार्य एवं विभागाध्यक्ष, फार्माकोलाॅजी द्वारा किया गया। इस दौरान संकायाध्यक्ष डाॅ॰ विवेक कुमार शर्मा (फिजियोलोजी), मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ॰ शिखा सेठ (स्त्रीरोग विभाग), डाॅ॰ सौरभ श्रीवास्तव (मेडिसन विभाग), डाॅ॰ विनीता लाल (बाॅयोकैम्स्ट्रिी विभाग), डाॅ॰ सतेन्द्र कुमार (सर्जरी विभाग), डाॅ॰ अंजू रानी (फोरेन्सिक विभाग) तथा डा0 अमित श्रीवास्तव, सहायक आचार्य, एनाॅटामी विभाग आदि समेत संस्थान के संकाय सदस्य, नर्सिग स्टाॅफ एवं समस्त छात्र भी मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: