नोएडा।आज पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद डॉ. महेश शर्मा तथा नोएडा के विधायक पंकज सिंह ने श्रीराम मित्र मंडल, नोएडा द्वारा रामलीला मैदान
, सी-ब्लॉक, सेक्टर-62,नोएडा में आयोजित ग्यारहदिवसीय श्रीरामलीला महोत्सव व श्रीरामलीला मंचन 2019 का दीप प्रज्वलन कर शुभारंभ किया।सर्वप्रथम गणेश पूजन व गणेश वंदना की गई।गणेश वंदना के उपरांत श्रीरामलीला मंचन शुरु हो गया।माता पार्वती ने शिवजी से श्रीराम की कथा सुनाने का अनुरोध किया।भगवान शिव ने माता पार्वती से कहा कि जिस श्रीराम की कथा मैं सुना रहा हूं वे अधर्म का नाश करने के लिए कई अवतार ले चुके हैं।यदि संसार के सभी कागज और कलम भी समाप्त कर दिये जायें तो भी प्रभु राम का वर्णन समाप्त नहीं होगा।उनके अनन्त हाथ, पैर और आंखें हैं।नारद मोह का मंचन हुआ। देव ऋषि नारद जब राजा की पुत्री विश्वमोहिनी का हस्तरेखा देख रहे थे तो उन्हें राजा की कन्या से विवाह करने का मोह हो गया।उनके मोह भंग के लिए श्रीहरि ने उन्हें वानर का रूप दे दिया।राजा की पुत्री के स्वयम्बर में नारद जी सम्मिलित हुए।श्रीहरि भी सम्मिलित हुए।राजा की कन्या विश्वमोहिनी ने श्रीहरि के गले में माला डाल दी।गुस्से में आकर नारदजी ने श्रीहरि को श्राप दे दिया कि आप भी स्त्री वियोग में तड़पेंगे।विष्णुजी के दोनों गणों को भी उन्होंने राक्षस बनने का श्राप दे दिया।जब नारदजी को अपनी गलती का अहसास हुआ तो श्रीहरि ने उन्हें उनका पुराना रूप वापस दे दिया।
       ग्यारह दिनों तक चलने वाली श्रीरामलीला का 9 अक्टूबर को श्रीराम राज्याभिषेक के साथ समापन हो जायेगा। रामलीला का मंचन प्रतिदिन सांय 7 बजे से होगा। विजयदशमी उत्सव व रावण दहन 8 अक्टूबर को सांय 5 बजे होगा। 3 अक्टूबर को दोपहर पश्चात हनुमान मंदिर सेक्टर 20 से श्रीरामबारात शोभा यात्रा प्रारंभ होगी जो विभिन्न सेक्टरों से होते हुए सेक्टर 62 स्थित रामलीलास्थल पर सम्पन्न होगी।70 फुट के रावण,65 फुट के कुम्भकरण और 60 फुट के मेघनाद के पुतलों का दहन किया जायेगा।इसके साथ ही आतंकवाद,भ्रष्टाचार एवं महिला उत्पीड़न के तीन पुतलों का भी दहन किया जायेगा।इन पुतलों का दहन समाज में जागरूकता लाने के उद्देश्य से होगा।इस अवसर पर कवि सम्मेलन और डांडिया उत्सव का भी आयोजन होगा।
           आज महाराजा अग्रसेनजी की जयंती धूमधाम से मनायी गई।अग्रसेन जी का पूजन किया गया तथा उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किया गया।उनके एक रूपया और एक ईंट के सिद्धांत का वर्णन किया गया।
       इस वर्ष रामलीला में पर्यावरण संरक्षण के लिए व सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया गया।मंच से पर्यावरण संरक्षण का आह्वान किया गया व उपस्थितजनों से रामराज्य जैसी पर्यावरण व्यवस्था बनाने का संकल्प कराया गया।
           गणेश पूजन व श्रीरामलीला मंचन में श्रीराम मित्र मण्डल के चैयरमेन बी0पी0 अग्रवाल, मुख्य संरक्षक उमाशंकर गर्ग,अध्यक्ष धर्मपाल गोयल, महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा, कोषाध्यक्ष राजेन्द्र गर्ग, सहकोषाध्यक्ष अनिल गोयल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सतनारायण गोयल, रविन्द्र चौधरी, तरुण राज, एस0एम0 गुप्ता, मनोज शर्मा, मुकेश गुप्ता, मुकेश गोयल,कुलदीप गुप्ता, अनुज गुप्ता, मुकेश गर्ग, पवन गोयल, आत्माराम गुप्ता, उमानंदन कौशिक, ओमवीर शर्मा,मुकेश अग्रवाल, संजय शर्मा, रंजीव गुप्ता, सुशील गोयल, किशन लाल मारवाड़, शांतनु मित्तल,गौरव मेहरोत्रा सहित समिति के गणमान्य सदस्य सम्मिलित हुए।
                आयोजन समिति के महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने बताया कि कल की लीला में श्रीकार्तिकेय संस्था के कलाकारों द्वारा श्रीराम जन्म, विश्वामित्र यज्ञ भंग, ताड़का एवं सुबाहु वध के प्रसंगों का मंचन किया जायेगा।

Share To:

Post A Comment: