गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के दीनदयाल उपाध्याय समिति के तत्वाधान में पं. दीनदयाल उपाध्याय के १०३वीं जयंती के उपलक्ष्य में हुआ कार्यक्रम



गौतमबुद्धनगर।  गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के दीनदयाल उपाध्याय समिति के तत्वाधान में पं. दीनदयाल उपाध्याय के १०३वीं जयंती के उपलक्ष्य में श्रद्धांजलि अर्पित करने हेतु कार्यक्रम स्कूल ऑफ लॉ में सुबह ११ बजे आयोजित किया गया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के शिक्षक, छात्र, एवँ स्टाफ शामिल हुए और दीनदयालजी के चित्र पर पूष्पांजलि अर्पित कर उनके जीवन कृत्तित्व एवँ आर्दशों को वर्तमान परिस्थितियों के सापेक्ष पुर्नउद्घघाटित, पुर्नजीवित करनें का संकल्प लिया। पं. दीनदयाल उपाध्याय समिति के विश्वविद्यालय संयोजक डाँ. अक्षय सिंह ने दीनदयालजी के मानवदर्शन के राष्ट् की तात्कालिक उपादेयता पर प्रकाश डाला और आह्वान किया कि नये भारत की कल्पना को मूर्त्त देने हेतु उनके गूढ राजनीतिक, सामाजिक, एवँ सांस्कृतिक दर्शन को चरितार्थ करना होगा। अध्यक्ष, प्रो. एस. के. सिंह नें भी सभा को संबोधित किया एवँ वर्त्तमान में भारत के बेहतर भविष्य के सृजन में पंडीतजी के योगदान को याद किया।  पंडीतजी के मानव दर्शन, अंत्योदय, समावेशी विकास पर विस्तार से प्रकाश डाला गया। भारत ही नहीं अपितु विश्व की उभरती चुनौतिंयों का सामाधान इन विचारों में समाहित हैं। कार्यक्रम में डाँ. ममता शर्मा, डाँ. मनमोहन सिंह, डाँ. के के द्विवेदी, डाँ. सतीश चंद्रा, डाँ. प्रियंका सिंह, डाँ. प्रकाश दीलारे, डाँ. विवेक, डाँ. सुशील सहित अनेंको छात्र-छात्राएं सम्मिलित हुए।
Share To:

Post A Comment: