सिकंदराबाद।
(रोहित बंसल) बकरीद की नमाज अदा करने के लिए सोमवार को ईदगाह और नगर की मस्जिदों में अकीदतमंदों की जबरदस्त भीड़ रही। अल्लाह की अकीदत ऐसी कि ईदगाह के नजदीक जहां जगह मिली वहीं बैठकर नमाज अदा की। बकरीद की नमाज के बाद एक दूसरे को मुबारकबाद देने का सिलसिला चला। मुबारकबाद हुई और फिर शुरू हुआ कुर्बानी का सिलसिला। सभी ने अपनी हैसियत के अनुसार अल्लाह की रजा पाने को कुर्बानी दी। बकरीद का उत्साह तड़के से ही नजर आ रहा था। अकीदतमंद नमाज के तय से समय से एक घंटा पहले से ही ईदगाह पर पहुंचना शुरू हो गए थे। बुजुर्ग, युवा, बच्चे सफेद कुर्ता-पायजामा और टोपी पहनकर ईदगाह आए। सारा ईदगाह अकीदतमंदों के लगाए इत्र से महक रहा था। ईदगाह पर नमाज के समय तक ईदगाह के अंदर और बाहर कहीं जगह नहीं बची थी। सुबह 8 बजे ईदगाह में नगर इमाम ने ईद उल जुहा की नमाज अदा कराई। इसके साथ ही नगर की जामा मस्जिद में व प्रमुख मस्जिदों के साथ ही सभी छोटी बड़ी मस्जिदों में भी बड़ी अकीदत के साथ अलग अलग समय पर ईद की नमाज पढ़ी गई। देश और कौम की तरक्की, शांति और खुशहाली के लिए भी दुआ मांगी गई। नमाज पढ़ने के बाद सब ने एक दूसरे से गले मिलकर मुबारक बाद दी।
सोमवार को ईद उल अजहा का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया गया। नगर में लोगों ने ईद की नमाज अदा कर अमन और शांति की दुआए मांगी। एक दूसरे को गले से लगाकर ईद की बधाई दी गई। नगर में ईदगाह, जामा मस्जिद सहित कई मस्जिदों में मुस्लिम समुदाय के हजारों लोगों ने ईद की नमाज अदा की। नमाज के बाद लोगों ने कुर्बानी भी दी। मौलाना आरिफ ने इस मौके पर कहा कि अल्लाह को खुश करने के लिए ईद पर कुर्बानी दी जाती है और ईद पर लोग सभी गिला शिकवा भुला कर एक दूसरे से मिलते हैं। जिससे एक साथ मिल जुल कर रहने का सन्देश जाता है। बकरीद को इस्लाम में बहुत ही पवित्र त्यौहार माना जाता है। इस्लाम में एक साल में दो तरह की ईद मनाई जाती है। एक ईद जिसे मीठी ईद कहा जाता है और दूसरी बकरीद। एक ईद समाज में प्रेम की मिठास घोलने का संदेश देती है, जबकि दूसरी ईद अपने कर्तव्य के लिए जागरूक रहने का संदेश देती है। ईद उल अजहा का दिन फर्ज-ए-कुर्बानी का दिन होता है।

बकरीद पर चाक चौबंद रही सुरक्षा व्यवस्था
ईद उल अजहा के पर्व पर नमाज के दौरान सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रही। पुलिसकर्मियों के अलावा अधिकारी भी ईदगाह पर मौजूद रहे। नगर में पुलिस का विशेष पहरा रहा। सोमवार को ईद का पर्व मनाया गया। सुबह के समय मुस्लिम अकीदतमंदों ने ईदगाह पर पवित्र नमाज पढ़ने के बाद एक दूसरे को गले लगा कर ईद की बधाई दी। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस अधिकारियों ने ईदगाह व नगर की मस्जिदों पर पुलिस की तैनाती की थी। नमाज के दौरान ईदगाह स्थल पर भारी पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस चौकसी व पुलिस अधिकारियों की देखरेख में ईद का पर्व शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। सीओ राघवेंद्र मिश्र ने बताया कि नगर में बकरीद का पर्व शांतिपूर्वक संपन्न हुआ।
Share To:

Post A Comment: