अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी आधी रात पहुंचे नोएडा, सेक्टर 20 थाने का किया औचक निरिक्षण, जांच से दिखे सन्तुष्ट, मांगे बेहतर पुलिसिंग पर सुझाव

गौतमबुद्धनगर। शनिवार रात को समय 00ः48 बजे थाना सेक्टर 20 का अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने औचक निरीक्षण किया। जिसमे एसएसपी गौतमबुद्धनगर, एसपी सिटी, सीओ सिटी प्रथम, प्रभारी निरीक्षक थाना सेक्टर 20 उपस्थित थे। अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी पूरे थाना परिसर का मुआयना किया। हवालात से लेकर रजिस्टर तक का रख रखाव भी देखा, कुछ विभागीय तौर पर आवश्यक निर्देश भी दिए। लेकिन यकायक हुए निरिक्षण में नोएडा पुलिस पास निकली। उन्होंने बेहतर पुलिस और कैसे हो सके उस पर एसएसपी वैभव कृष्ण ने अपने सुझाव देने को भी कहा, साथ ही एक अच्छी पुलिसिंग को लेकर सीनयर अधिकारीयों से विचार विमर्श भी किया! निरीक्षण के दौरान अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा निम्न बिन्दुओ पर निरीक्षण नोट अंकित किया 1- इस थाने की मुख्य समस्या साइबर क्राइम है। हर माह लगभग 15-20 मुकदमे दर्ज हो रहे है। यह मुख्यतः फैक्ट्री एरिया है एवं काफी संख्या मे बैंक/एटीएम है। कई फैक्ट्रियो मे डाटा चोरी की शिकायत है। साइबर क्राइम केवल निरीक्षक ही इन्वेस्टिगेट कर सकते है। एसएसपी गौतमबुद्धनगर साइबर क्राइम पर अपने ट्रेनिंग हेतु सुझाव/प्रस्ताव एक सप्ताह मे दिये जाने हेतु निर्देशित किया गया।  2-सीसीटीएनएस के सम्बन्ध मे यह इनपुट है कि थाने मे केवल 02 सिस्टम होने की वजह से 28 एसआई की फीडिंग टाइम से नही हो पाती है। यह एक गम्भीर बिन्दु है। इस सम्बन्ध मे प्रस्ताव एडीजी तकनीकी सेवाएं महोदय को एक सप्ताह मे भेजेे जाने हेतु निर्देशित किया गया। इस थाना क्षेत्र मे गाडी चोरी भी मुख्य समस्या है। इस क्षेत्र मे पार्किंग नही है। एसएसपी गौतमबुद्धनगर को नोएडा मे जहाॅ पार्किंग आवश्यक है उसका प्रस्ताव नोएडा अथाॅरिटी को तथा अपर मुख्य सचिव गृह महोदय को भेजने हेतु निर्देशित किया गया। जनपद गौतमबुद्धनगर मे 02 नये थाने फेस 1 तथा सेक्टर 142 प्रस्तावित है। प्रस्तावित थानो की जमीन के सम्बन्ध मे नोएडा अथाॅरिटी से समन्वय स्थापित किये जाने हेतुु निर्देशित किया गया। 5-एसएसपी गौतमबुद्धनगर द्वारा नाइट पैट्रोलिंग हेतु 25 नये वाहनो की मांग की गयी, जिसका प्रस्ताव भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया। पोक्सो अधिनियम के 03 मामलो मे सजा हुयी। फास्ट ट्रैक/पोक्सो/महिला अपराध की डिटेल भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया। पुलिस रिमाण्ड पर भी अपने सुझाव एसएसपी गौतमबुद्धनगर को उपलब्ध कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। 8-अभियोजन के सन्दर्भ मे डीजीसी/एडीजीसी के आउटपुट मे सुधार की आवश्यकता बताई गयी है। सभी एडीजीसी/डीजीसी द्वारा जघन्य अपराधो की पैरवी किये मुकदमो के आउटकम का 01.01 2019 से 10.8.2019 तक का विवरण उपलब्ध कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। 9-निरीक्षक मनोज पंत के केस मे स्टैेण्डिंग काउंसिल की कमी के कारण प्रभावी पैरवी नही हुई है। इस मामले मे शासन को अवगत कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। सिविल मामलो को कैसे रिजाॅल्व किया जाये, शासन से पुलिस के लिये गाइडलाइन्स बनाये जाने तथा इस पर एक मैकेनिज्म बनाये जाने के सुझाव तथा रेरा से सम्बन्धित मामलो मे सुझाव भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया। ई-चालान हेतु स्पेशल एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट की कोर्ट भी बनाये जाने हेतु सुझाव भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया। प्रत्येक जनपद मे अकाउंट/फाइनेन्स मैनेजमेण्ट हेतु अकाउंट आॅफिसर पोस्ट किये जानेे के लिये सुझाव भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया। 13-प्रत्येक जनपद मे बिल्डिंग की मेन्टीनेन्स हेतु जेई व हर रेन्ज मे एई/ईई पोस्ट किये जानेे के लिये सुझाव भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया।
Share To:

Post A Comment: