हस्तशिल्प विकास आयुक्त श्री शांतमनु ने भारतीय फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज के तीन दिवसीय भव्य शो प्रदर्शनी का हुआ उद्घाटन। 






 
ग्रेटर नोएडा।    हस्तशिल्प विकास आयुक्त  शांतमनु आईएएस ने एक रंगारंग समारोह में 12वें भारतीय हस्तशिल्प फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज शो आईएफजेएएस का उद्घाटन किया इसका आयोजन ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर ऐंड मार्ट में 63वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय परिधान मेले आईआईजीएफ के साथ साथ किया जा रहा है 
आईएफजेएएस का आयोजन हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद ईपीसीएच और आईआईजीएफ का आयोजन परिधान निर्यात संवर्धन परिषद ;एईपीसी के द्वारा किया जा रहा है
इस अवसर पर ईपीसीएच अध्यक्ष  रवि के पासी आईएफजेएएस 2019 के अध्यक्ष  विकास मनकतला आईईएमएल अध्यक्ष एवं ईपीसीएच के महानिदेशक  राकेश कुमार  और ईपीसीएच प्रशासनिक समिति के सदस्य मौजूद थे
प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के दौरान हस्तशिल्प विकास आयुक्त  शांतमनु ने कहा कि आईएफजेएएस फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज उत्पादों पर आधारित विशिष्ट प्रदर्शनियों में से एक है यह छोटे और मझोले निर्माताओं और निर्यातकों को जूलरी शिल्प में अपनी कला दिखाने का अवसर प्रदान करता है
इसके बाद  शांतमनु ने कहा कि विश्व बाजार में भारतीय फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज के निर्यात की काफी संभावनाएं हैं उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने हस्तशिल्पों के निर्यात की बेहतरी के लिए कई कदम उठाए हैं और इस क्षेत्र में रोजगार पैदा करने की भी कई योजनाएं बनाई हैं
ईपीसीएच अध्यक्ष  रवि के पासी ने बताया कि देश के सभी हिस्सों से आये करीब 250 प्रदर्शक इस प्रदर्शनी में अपने असाधारण फैशन जूलरी कम महंगी जूलरी स्टोलए स्कार्फ शॉल हैंड बैग क्लच पर्स बेल्ट पर्स नेक टाइ बीड्स स्टोन्स क्रिस्टल हेड हेयर एक्सेसरीज फैंसी फैशन फुटवियर टैटू और बिंदी का प्रदर्शन कर रहे हैं  यहां प्रदर्शित उत्पादों की डिजाइन शानदार पारंपरिक आधुनिक एवं समकालीन और समाज के सभी वर्गों और बाजारों के अनुकूल हैं। ईपीसीएच के महानिदेशक  राकेश कुमार ने कहा कि इस प्रदर्शनी में अर्जेंटीना बारबाडोस ब्राजील बेल्जियम कोलंबिया फिनलैंड फ्रांस ग्रीस इटली इजरायल जापान कुवैत लेबनान मैक्सिको नाइजीरिया नॉर्वे रूस सेनेगल सिंगापुर दक्षिण अफ्रीका स्पेन श्रीलंका यूएई यूके और यूएसए के खरीदार फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज के उत्पादों की उत्कृष्ट रेंज में से अपनी जरूरतों के उत्पादों की खरीद के लिए पहुंच रहे हैं।  कुमार ने कहा कि उपरोक्त देशों के अलावा सीआईएस देशों जैसे कि किर्गिस्तान अजरबैजान तुर्कमेनिस्तान यूक्रेन और अफ्रीकी देशों कांगो घाना गाम्बिया सेनेगल नाइजीरिया के खरीदार भी अपनी आवश्यकता के उत्पादों के लिए यहां पहुंच रहे हैं
मेले के दौरान आगंतुक खरीदारों के लिए आयोजित फैशन शो मुख्य आकर्षण में से एक होगा इसके दौरान प्रसिद्ध मॉडल रैंप पर फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज के कई सर्वोत्तम उत्पादों का प्रदर्शन करेंगे ताकि आगंतुक खरीदारों के लिए उनके पसंद के उत्पादों की खरीद आसान हो सके।  कुमार ने इसके आगे बताया कि विभिन्न शिल्प समूहों के कारीगरों के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए ईपीसीएच के प्रयासों के तहतए देश के दक्षिण पश्चिम और पूर्वी क्षेत्र के कारीगरों को भी इस मेले में आने वाले खरीदारों के सामने अपने सर्वोत्तम उत्पादों को प्रदर्शित करने और सीधे उनसे बातचीत करने का अवसर प्रदान किया गया है
वर्ष 2018.19 के दौरान हस्तशिल्प निर्यात में बीते वर्ष की इसी अवधि की तुलना में रुपये के संदर्भ में 15.46% और डॉलर के संदर्भ में 6.44% की वृद्धि देखी गयी है साथ ही साल 2018-19 के दौरान फैशन जूलरी एवं एक्सेसरीज का निर्यात भी 2332.97 करोड़ रुपये का हुआ है और इसमें भी बीते वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 11.34%की वृद्धि हुई है इस प्रदर्शनी का आयोजक हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद है जो एक ही छत के नीचे दुनिया की सबसे बड़ी हस्तशिल्प प्रदर्शनी आईएचजीएफ.दिल्ली मेले का साल में दो बार आयोजन करता है। 
Share To:

Post A Comment: