सपा-बसपा गठबंधन में दरार, मायावती बोलीं- नहीं मिले यादव वोट, मुसलमानों ने दिया साथ।

संकट में सपा-बसपा गठबंधन, मायावती ने 11 सीटों पर अकेले उपचुनाव लड़ने के दिए संकेत
 नई दिल्ली। बसपा की बैठक के बाद मायावती ने सपा-बसपा गठबंधन टूटने के संकेत दिए हैं। सूत्रों के हवाले से खबर है कि मायावती ने दिल्ली में चल रही बीएसपी की बैठक में कहा कि गठबंधन से कोई फायदा नहीं हुआ है।  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मायवती ने कहा कि यादवों के वोट उन्हें नहीं मिले। अगर वोट मिलते तो यादव परिवार के लोग चुनाव नहीं हारते। समाजवादी पार्टी के लोगों ने गठबंधन के खिलाफ काम किया। मुसलमानों ने हमारा साथ दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी 11 विधानसभा सीटों पर बसपा उप चुनाव लड़ेगी।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 में गठबंधन को संयुक्त रूप से 15 सीटों पर जीत मिली है, जबकि बसपा को 10 सीटों पर सफलता मिली। उम्मीद की जा रही थी कि गठबंधन यूपी में भाजपा को तगड़ी चुनौती देगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और भाजपा ने प्रदेश में 62 सीटों पर जीत हासिल की।

बैठक में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर भी फैसला लिया जा सकता है। हालांकि, गठबंधन तोड़ने पर आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है लेकिन परिणामों ने गठबंधन दलों को बेहद निराश किया है।

सूत्रों के अनुसार मायावती ने हार पर समीक्षा के लिए बुलाई गई बैठक में बसपा सांसदों और जिलाध्यक्षों से कहा है कि पार्टी सभी विधानसभा उपचुनाव अकेले लड़ेगी और अब 50 फीसदी वोट का लक्ष्य लेकर राजनीति करनी है। मायावती ने ईवीएम में धांधली का भी आरोप लगाया।
Share To:

Post A Comment: