गबन के आरोपी पोस्ट मास्टर का ₹50000 का एक और मामला उजागर,आखिर कहाँ गए 5
0 हजार रुपये, पीड़ित ने कोतवाली में दी शिकायत।

 दनकौर -  दर्जनों लोगों का लाखों रुपए गबन कर डकारने के आरोपी पोस्ट मास्टर का ₹50000 की चारसौबीसी करने का एक और मामला उजागर हुआ है। इस मामले का पता तब चला जब दनकौर के मोहल्ला नई बस्ती निवासी अरुण कुमार पुत्र वीरपाल सिंघल ज़रूरत पड़ने पर डाकघर के अपने खाते में 19 जुलाई 2018 को जमा किए ₹50000 को निकालने बुधवार को डाकघर में पहुंचे तो वहां मौजूद पोस्ट मास्टर मुनेश सिंह ने उन्हें बताया कि उनके खाते में यह पैसा जमा नहीं है जबकि अरुण कुमार की पासबुक में भूतपूर्व पोस्ट मास्टर प्रवीण कुमार ने ₹50000 जमा अंकित दर्शाए हुए हैं। उक्त संबंध में खाताधारक अरुण कुमार की शिकायत पर पोस्ट मास्टर उमेश सिंह ने दनकौर कोतवाली प्रभारी को लिखित पत्र देकर कहा है। कि दनकौर उप डाकघर में भूतपूर्व पोस्ट मास्टर प्रवीण कुमार द्वारा चारसौबीसी की गई थी। जिसके खिलाफ विभागीय उच्च अधिकारियों द्वारा दनकौर कोतवाली में 18 लोगों का लाखों रुपए गबन करने के संबंध में मुकदमा संख्या 274 सन 2019 दर्ज कराया हुआ है। मुनेश सिंह ने कहा है। कि दनकौर कस्बा निवासी अरुण कुमार पुत्र वीरपाल सिंघल के पोस्ट ऑफिस की एसबी 190 33 3 1 536 में अंकित 50000 रुपए का गबन भी उक्त पूर्व पोस्ट मास्टर प्रवीण कुमार द्वारा किया गया है इसलिए 50000 के गबन को भी प्रवीण कुमार के खिलाफ पूर्व में दर्ज मुकदमे में शामिल किए जा कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाए।

गबन के इस मुकदमे के संबंध में कोतवाली प्रभारी समरेश कुमार सिंह ने बताया कि पोस्ट मास्टर की शिकायत के आधार पर पूर्व मास्टर प्रवीण कुमार के खिलाफ पूर्व में दर्ज मुकदमे में उक्त प्रकरण को भी शामिल कर लिया गया है जिस पर आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
 उधर डाकघर के खाताधारक अरुण कुमार का कहना है। की 19 जुलाई 20 18 को डाकघर में ₹50000 रुपए जमा कराएं जिन्हें डाकघर अधिकारियों को उसे वापस दिया जाना चाहिए। डाक विभाग अधिकारियों के मुकदमें से उसका कोई लेना-देना नहीं है यदि डाकघर अधिकारी ने उनका ₹50000 शीघ्र नहीं लौटाया तो वह डाकघर अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। अरुण कुमार ने उक्त संबंध में दनकौर कोतवाली में भी एक शिकायती पत्र देकर आवश्यक कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग की है
Share To:

Post A Comment: