बाइक बोट के नाम पर कई लाख लोगों से 1500 करोड रूपये की धोखाधडी का मामला।   नोएडा पुलिस नेे कंपनी के मालिक संजय भाटी और उसके साथियों पर गैंगस्टर के तहत कार्रवाई करेगी।तीन रेंज रोवर, 12 टोयटा फाच्र्यूनर,चार महेंन्द्रा बोलेरो, सात मारूती ब्रेंजा, तीन टाटा नेक्सान, 104 दोपहिया वाहन (इन सभी वाहनों की कीमत  आठ करोड 75  लाख रूपयें)किए बरामद।

गौतमबुद्धनगर। जिला न्यायालय गौतमबुद्धनगर ने संजय भाटी और उसके साथी विजयपाल कसाना को पुलिस रिमांड पर भेजा हैं। जिसमें पुलिस पुछताछ में आरोपी संजय भाटी ने बताया कि उसने लगभग 17 बैंक खातों से 650 करोंड रूपये ट्रांसफर किये थें। अब ईडी मामले की जांच
करेगी।
संजय भाटी ने अपनी कंपनी बाइक बोट की फर्जी स्कीम से लोगों से कई करोड रूपये ठगें। स्कीम के तहत टैक्सी बाइक के लिए 62 हजार 100 रूपये निवेश करने के बदले निवेशक को एक साल में एक लाख 17 हजार रूपये मिलने का फर्जीवाडा था। इस फर्जी स्कीम को चलाने के लिए संजय भाटी एंड टीम ने सोशल मिडिया और इंटरनेट का इस्तेमाल किया। पुरे भारत देश के लगभग तीन लाख लोगों ने कंपनी में निवेश किया। लेकिन लोगों को कोई लाभ नही मिला।
पुलिस ने संजय भाटी कंपनी के यह वाहन जब्तें
तीन रेंज रोवर, 12 टोयटा फाच्र्यूनर,चार महेंन्द्रा बोलेरो, सात मारूती ब्रेंजा, तीन टाटा नेक्सान, 104 दोपहिया वाहन इन सभी वाहनों की कीमत पुलिस ने लगभग आठ करोड 75  लाख रूपयें बतायी हैं।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि संजय भाटी एंड टीम ने गिरफतार होने से पहले सारे कागजोें को मिटा दिया था। पुलिस को संजय भाटी के आफिस से फर्जी चेक बरामद हुऐे। जिससे अनुमान लगाया जा सकता है कि लोगों को शांत करने के लिए उन्हें फर्जी चेक बाटें होगें। एसएसपी ने बताया कि पिडित निवेशकोें ने लगभग 39 एफआरआर दर्ज करायी। जिसकी जांच की जा रही हैं।
Share To:

Post A Comment: