कन्याओं को सिखाया जा रहा स्वयं आजीविका चलाने के गुर।
अपनी पुत्री का रखें ख्याल, बनायें कामयाब होगी मिसाल ।

बिलासपुर कस्बे की एक बहू बृजलता अग्रवाल व एक बेटी कीर्ति गर्ग क्षेत्र की गरीब कन्याओं व महिलाओं की मैडम  के साथ कस्बे के लोगों का रुझान सुकन्या लर्निंग फाउंडेशन संस्थान की तरफ बढ़ रहा है ।


ज्ञात हो कि तीन महिने पहले बिलासपुर कस्बे की बहू बृजलता व बेटी कीर्ति गर्ग ने कस्बे के सरस्वती शिशु मंदिर प्रांगण में गरीब बेटियों बहूओं को बामुश्किल आत्मनिर्भर बनाने के लिए निशुल्क मेंहदी, ब्यूटी पार्लर, सिलाई, कढाई, नृत्य, ढोलक, घरेलु सामग्रियों की देखभाल व बनाना जैसे पापड़, चिप्स, अचार, नमकीन आदि के साथ बाल विवाह व शादी के पहले शादी के बाद, पत्र, शिकायती पत्र लिखना महिला बाल सुरक्षा आदि के बारे में जागरूकता के लिए रोजाना शाम तीन से चार बजे तक प्रशिक्षित करने के बाद शुक्रवार को सरस्वती शिशु मंदिर प्रांगण में क्षेत्र के गणमान्य लोगों के बीच कन्याओं ने अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित कर सबका मन मोह लिया ।
   इस दौरान रसमा, प्रिया, पिंकी, रासी, चंचल, माही, सुरभि, रिंकी, रासीदी, रुपल, दीपिका, राखी आदि ने बताया जो लोग बोलि बोलते थे, आज वही वाहवाही करते नहीं थकते । यह सब कीर्ति व बृजलता दीदी ने हमारे जीवन में आत्मनिर्भर बनने की लौ जगाया । सुकन्या लर्निंग फाउंडेशन संचालिका कीर्ति व बृजलता ने बताया सामर्थ्यवान लोगों के मदद से गरीब परिवार की कन्याओं महिलाओं को स्वयं रोजगार के साधन उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है । शुन्य से शुरू कर आज पच्चीस कन्याओं को आत्मनिर्भर बनाने में कामयाबी हासिल हुई है । जून से पच्चीसपच्चीस कन्याओं महिलाओं का दो कक्षाओं को संचालित कर आत्मनिर्भर बनाने का निशुल्क उद्देश्य है । इस मौके पर अनुपम तायल, होमनिधि शर्मा, घनश्याम अग्रवाल, टिल्लू गर्ग सहित अभिभावक गण व क्षेत्र के गणमान्य मौजूद रहे ।
Share To:

Post A Comment: