गौतमबुद्धनगर ।बायर्स का आरोप है कि पिछली सरकारों और वर्तमान सरकार में कोई अंतर नहीं है। बायर्स के साथ कोई नेता नहीं खड़ा हुआ, इसलिए अबकी बार सबने अपना नेता नोटा चुन लिया है। सब अगामी चुनाव में नोटा को ही वोट करेंगे।
इस दौरान नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान ने बताया हमने तीन सरकारें बीएसपी, एसपी, बीजेपी को देखा। सब सरकारों के कार्यकाल में फ्लैट बायर्स की समस्याओं को प्रमुखता से उनके सामने रखा, लेकिन जो हमदर्दी नेताओं को जनता के साथ दिखानी चाहिए थी। वो नेताओं ने बिल्डरों के साथ निभाई। जिसके कारण आज दस साल बाद भी बायर्स सड़कों पर हैं। बायर्स ने आपस में समझौता किया है कि इस बार लोकसभा चुनाव में नो होम नो वोट की मुहीम में शामिल होकर नोटा का उपयोग करेंगे।
अन्नू खान का कहना है कि सभी सोसाइटियों में जाकर नो होम नो वोट की मुहिम को आगे बढ़ाने व नोटा का प्रयोग करने के लिए जन समर्थन मागेंगे। विधायक व सांसद ने चुनाव से पाँच महीने पहले हर सोसाइटी में घूम घूमकर फोटो खिंचाने का काम किया। सोसाइटी या बायर्स की समस्या जस की तस है। जो वादे जनप्रतिनिधियों ने किए उनमें अधिकतम वादे अधूरे ही रह गए हैं।
अभय जैन, अजय तोमर, आसिम खान, एस० सी० जैन, निरंकार गुप्ता, प्रवीन गुप्ता, सुनील नारंग, राकेश कपूर, एस० के० कुमार, राजेंद्र सिंह, एस० के० शर्मा, आर०के० कुशवाहा, आदि बायर्स ने नो होम नो वोट मुहीम में भाग लिया ।
Share To:

Post A Comment: