‘कृष्ण’ के राज में भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं, घूस लेते SHO मनोज पंत गिरफ्तार
एसएसपी वैभव कृष्ण जिस भी जिले में जाते हैं, वहां से भ्रष्टाचार का नामों-निशान मिट जाता है। भ्रष्टाचारी फिर चाहे अपने ही डिपार्टमेंट का कोई हो एसएसपी उसे नहीं बख्शते। कुछ ऐसा ही मामला नोएडा जिले में सामने आया है, जहां एसएसपी ने सेक्टर-20 (Sector-20) के SHO मनोज पंत समेत तीन पत्रकारों को घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा और हवालात में बंद कर दिया।इस मामले में इंस्पेक्टर जयवीर सिंह की भी संलिप्तता सामने आ रही है जोकि अभी फरार चल रहे हैं। फ़िलहाल एसएसपी ने मनोज पंत और जयवीर सिंह को निलंबित कर दिया।
दरअसल, अभी हाल में एसएसपी वैभव कृष्ण ने नोएडा जिले की कमान संभाली है। इससे पहले वो गाजियाबाद के कप्तान थे। जब वैभव कृष्णा गाजियाबाद में थे तब भी उनकी पहली प्राथमिकता भ्रष्टाचारियों को खत्म करना था और जब इन्होंने नोएडा जिले की कमान संभाली तब भी अगले दिन ही मीटिंग करके आदेश दिए थे कि वो जिले से अपराध और भ्रष्टाचार को खत्म कर देंगे।
इसी सिलसिले में नोएडा के सेक्टर 20 से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जिसमें एसएसपी वैभव कृष्ण ने नोएडा के सेक्टर-20 थाना प्रभारी मनोज पंत को खुद रंगे हाथों आठ लाख रुपए की घूस लेते गिरफ्तार कर लिया है। यह चारों लोग एक कॉल सेंटर से वसूली कर रहे थे। कॉल सेंटर और चारों के बीच करोड़ों की डील होनी थी। मौके से एसएसपी ने एक पिस्टल भी बरामद किया है।

भेजे जायेंगे जेल

जानकारी के मुताबिक, एसएसपी ने मुकदमा दर्ज कर इंस्पेक्टर और तीनों पत्रकारों को हवालात में बंद किया गया है। सूत्रों से खबर आ रही है कि थोड़ी देर में कोर्ट में पेश कर जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।

एसएसपी ने कहा ये

इस मामले में एसएसपी वैभव कृष्णा का कहना है कि ‘कल एसएचओ सेक्टर 20 मनोज पंत समेत तीन पत्रकारों सुशील पंडित, उदित गोयल और रमन ठाकुर को नोएडा के एसएचओ सिटी 20 के कार्यालय में 8 लाख रुपये घूस लेते हुए गिरफ्तार किया गया। वे एक कॉल सेंटर के मालिक से उनके खिलाफ पहले से ही दर्ज नोवा 2018 में एफआईआर से नाम हटाने के नाम पर पैसे ले रहे थे। इस दौरान एक पत्रकार की एक मर्सिडीज कार भी जब्त की गई है।यह कार आपराधिक गतिविधियों से संबंधित मालूम हो रही है। इसी के साथ एक पत्रकार के पास से एक पिस्टल .32 बोर भी बरामद किया गया है। गिरफ्तारी के दौरान पूरे 8 लाख रुपये भी बरामद किए गए हैं। फ़िलहाल चारों को गिरफ्तार करके SHO और अतिरिक्त एसएचओ जयवीर सिंह को निलंबित कर दिया गया है।’
Share To:

Post A Comment: