गौतमबुद्धनगर। (शफ़ी

मोहम्मद सैफ़ी)नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों के वित्तीय संसाधनां में वृद्धि एवं नगरीय निकायों में पारदर्शी एवं वैज्ञानिकों प्रणाली से सम्पत्तियों का मूल्यांकन कराने के उद्देश्य से आज उत्तर प्रदेश नगर पालिका वित्तीय संसाधन विकास बोर्ड के सदस्य शिव शंकर सिंह के द्वारा कलैक्ट्रेट सभागार में नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों के कार्याे की समीक्षा करते हुये सम्बन्धित अधिकारियों को दिये आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये कहा कि नगरीय निकायांे के उत्थान और नागरिकों को अनिवार्य शहरी सुविधायें उपलब्ध कराने के लिए नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों की आय के स्त्रोतों को इस प्रकार बनाया जाना आवश्यक है कि सम्बन्धित नगर निकाय आत्मनिर्भर हो सकें और अपनी जिम्मेदारियों को ठीक से निभाने में सक्षम हो सकें।
इसी क्रम में  सिंह के द्वारा क्रमशः दादरी, जेवर, बिलासपुर, दनकौर, रबूपुरा, जहाॅगीरपुर नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों की समीक्षा करते हुये कहा कि सभी के द्वारा आबादी के आधार पर सभी से हाउस टेक्स व जलकर में वृद्धि की जाए ताकि रिवेन्यू में वृद्धि हो सकें। उन्हांेने समीक्षा करते हुये अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व केशव कुमार का आहवान किया कि उनके द्वारा समस्त सम्बन्धित अधिकारियोंको प्रशिक्षिण दिया जायें, ताकि उनके द्वारा उत्तर प्रदेश नगर पालिका वित्तीय संसाधन विकास बोर्ड की मंशा के अनुरूप कार्य किया जा सकें।अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व केशव कुमार के द्वारा उत्तर प्रदेश नगर पालिका वित्तीय संसाधन विकास बोर्ड के सदस्य शिव शंकर सिंह को आश्वस्त करते कहा कि उनके द्वारा जो आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये है, उनका अधिकारियों के माध्यम से पालन सुनिश्चित कराया जायेंगा और नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों के वित्तीय संसाधनां में वृद्धि की जायेंगी। आयोजित समीक्षा बैठक में अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद दादरी समीर कुमार कश्यप, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत बिलासपुर विनय कुमार पाण्डेय, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत दनकौर भोला नाथ कुशवाहा, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत जहाॅगीरपुर अशोक कुमार खरवार, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत जेवर दिनेश शुक्ला, नगर पंचायत रबुपुरा से राजेश शर्मा उपस्थित रहें।



Sent from my Samsung Galaxy smartphone.
Share To:

Post A Comment: