दनकौर : दनकौर क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक को वीरता पुरस्कार की घोषणा होने पर गांव में खुशी की लहर दौड़ गई। वहीं हर तरफ लोगों में यह चर्चा का विषय बना रहा। ग्रामीण अंचल में पढ़ लिखकर बड़े हुए दनकौर क्षेत्र के समसपुर निवासी राजेन्द्र ने अपने गांव का नाम रोशन किया है।
वह दिल्ली पुलिस में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं। उनके पिता भगतराम खुफिया एजेंसी में इंस्पेक्टर थे। साथ ही राजेन्द्र के बड़े भाई कृष्ण मिनिस्ट्री ऑफ कॉमर्स में सेवारत हैं। बीते सात मार्च सन 2006 में दिल्ली को दहलाने के इरादे से लश्कर ए तैयबा के दो आतंकवादी दाखिल हुए थे। जब इनकी टीम को जानकारी हुई तो बुलेटप्रूफ गाड़ी में सवार होकर दिल्ली के होलांबी कला पहुँचे। इस दौरान वहां आतंकियों से मुठभेड़ हुई। और आतंकियों ने इनकी टीम पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दीं मगर इनके होंसले के आगे टिक नही पाए। इस दौरान पुलिस टीम ने दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया। शनिवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रपति ने राजेन्द्र समेत चार पुलिसकर्मियों को वीरता पुरष्कार दिया गया। जिसकी खबर उनके पैतृक गांव में पहुँची तो लोग खुशी से झूम उठे।
Share To:

Post A Comment: