गौतमबुद्धनगर। ओवरलोड वाहनों को प्रतिबंधित करने के लिए गौतमबुद्ध नगर के के ट्रांसपोर्टरों ने गुरुवार को जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा और मांग की कि जिले में प्रवेश करने वाले सभी ओवरलोड वाहनों को बंद किया जाए। ओवरलोड को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया जाए।  अपनी मांगों को लेकर सभी ट्रांसपोर्टरों ने एसएसपी कार्यालय और जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन भी किया।  जिले भर से ट्रांसपोर्ट आज एसएसपी कार्यालय पर एकत्र हुए। ट्रक यूनियन के संस्थापक रामानंद कसाना ने बताया कि जिलेभर में ओवरलोड वाहन अपनी क्षमता से 3 गुना से भी अधिक रेत और गिट्टी की सप्लाई कर रहे हैं जिससे सड़कों को काफी हानि  पहुंच रही है जिसके कारण सड़कों में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं और ओवरलोड वाहनों से वायु प्रदूषण व राजस्व कर को भी नुकसान हो रहा है।  यूनियन के अध्यक्ष उपेंद्र खारी ने कहा की ओवरलोड की  माल की ढुलाई जिले भर के अधिकारियों की मिलीभगत से हो रही है इसकी रोकथाम के लिए कोई भी कार्रवाई सक्षम अधिकारियों द्वारा नहीं की गई। महासचिव राकेश नागर ने बताया कि ओवरलोड को बंद कराने के लिए हम पहले भी सभी अधिकारियों से मिले थे पर उन्होंने कोई उचित कार्यवाही नहीं की इसलिए सभी ट्रांसपोर्ट अब 1 फरवरी से लेकर 10 फरवरी तक सभी गाड़ियों का चक्का जाम करेगे
। और माल ढो रहे ओवरलोड वाहनों को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा कार्यवाही कराएंगे। मौके पर यूनियन के कोषाध्यक्ष सुनील चौधरी, नरेश नागर, संजीव नागर, चेतन कसाना, जुगनू भाटी, सत्यप्रकाश भाटी, शिवकुमार वसिष्ठ, शिवकुमार कसाना, जगदीश ठाकुर, रजनेश शर्मा, मोहित शर्मा और अन्य ट्रांसपोर्टर मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: